World of Frozen: वर्ल्ड ऑफ फ्रोजन को बनाने में लगे थे सात साल, अब दर्शक जान पाएंगे इसके बनने की कहानी

Uttarakhand

डिज्नी + की ओर से ‘फॉर द फर्स्ट टाइम इन फॉरएवर: द मेकिंग ऑफ वर्ल्ड ऑफ फ्रोजन’ नाम से एक शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री जारी कर दी गई है, जिसे डिज्नी + पर देखा जा सकता है। इससे दर्शक दुनिया के पहले फ्रोजन थीम वाले लैंड के बनने की कहानी को जान पाएंगे। 

डिज्नी की ओर से दर्शकों को एक कमाल का तोहफा दिया गया है। दरअसल, दर्शक हॉन्ग कॉन्ग में बनाए गए दुनिया के पहले फ्रोजन थीम वाले लैंड के बनने की कहानी को जान पाएंगे। इसे पिछले साल डिज्नीलैंड में पेश किया गया था। इसके लिए डिज्नी + की ओर से ‘फॉर द फर्स्ट टाइम इन फॉरएवर: द मेकिंग ऑफ वर्ल्ड ऑफ फ्रोजन’ नाम से एक शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री जारी कर दी गई है, जिसे डिज्नी + पर देखा जा सकता है।

रचनात्मक प्रक्रिया से जुड़े सवालों का मिलेगा जवाब 
फ्रोजन लैंड की मेंकिग से दर्शकों को इसके बनने की प्रकिया को जानने का मौका मिलेगा। दर्शक जान पाएंगे कि आखिर इसका डिजाइन कैसे तैयार किया गया। साथ ही इसकी रचनात्मक प्रक्रिया से जुड़े सवालों के जवाब भी मिलेंगे। डिज्नी के कलाकार बताएंगे कि किंगडम ऑफ एरेन्डेल को बनाने के लिए क्या-क्या करना पड़ा था। 

बनाने में लगे सात साल
मालूम हो कि वर्ल्ड ऑफ फ्रोजन को 20 नवंबर, 2024 को हांगकांग स्थित डिज्नीलैंड में खोला गया था। इसे बनाने में सात साल का समय लगा। जाहिर है इसके लिए बहुत पसीना बहाया गया है। ‘फॉर द फर्स्ट टाइम इन फॉरएवर: द मेकिंग ऑफ वर्ल्ड ऑफ फ्रोजन’ के जरिए सात साल की मेहनत को 16 मिनट की एक छोटी सी डॉक्यूमेंट्री में जानने और समझने का मौका मिलेगा। बता दें कि वर्ल्ड ऑफ फ्रोजन एक कमाल की जगह है। इसमें लोगों के आकर्षण की कई चीजें मौजूद हैं। लोग यहां रोलर कोस्टर के साथ-साथ खरीददारी और खाने-पीने का भी आनंद ले सकते हैं।