PTCUL ने मनाया पर्यावरण दिवस – सभी को दी पर्यायवरण संरक्षण का दिया संदेश

Uttarakhand

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर प्रबन्ध निदेशक, पिटकुल श्री पी0सी0 ध्यानी जी की अध्यक्षता में 220 के0वी0 परिचालन एवं अनुरक्षण औद्योगिक खण्ड, झाझरा, देहरादून में वृक्षारोपण कार्यक्रम आयाजित किया। इसके साथ ही प्रदेश में पिटकुल के सभी कार्यालयों/उपकेन्द्रों में भी कार्मिकों द्वारा वृक्षारोपण किये गये।

विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर दिनांक 05.06.2024 को 220 के0वी0 परिचालन एवं अनुरक्षण औद्योगिक खण्ड, झाझरा, देहरादून परिसर में वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें पिटकुल के प्रबन्ध निदेशक श्री पी0सी0 ध्यानी जी की अध्यक्षता में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया, जिसके अन्तर्गत प्रबन्ध निदेशक महोदय एवं अन्य उच्चाधिकारियों एवं कार्मिकों द्वारा वृक्षारोपण किया गया।
इस अवसर पर प्रबन्ध निदेशक महोदय द्वारा सभी कार्मिकों को विश्व पर्यावरण दिवस की शुभकामनाएं प्रेषित करते हुये प्रेरित किया कि सभी कार्मिकों को पर्यावरण दिवस की महत्ता को समझना चाहिए एवं पर्यावरण दिवस के अवसर पर वृक्ष अवश्य लागाना चाहिए। साथ ही कार्मिकों से अपने घरों पर या आस-पास वृक्षारोपण करने का अनुरोध करते हुये आह्वाहन किया कि इस प्रकार देश/प्रदेश के विकास में प्रतिभाग करें कि अगली पीढी भी हम पर गर्व करे। साथ ही अवगत कराया कि आपके आस-पास, गांव एवं शहरों में हरियाली रहेगी तो पर्यावरण भी स्वस्थ रहेगा तथा स्वास्थ्य शरीर हेतु स्वास्थ्य पर्यावरण की आवश्यकता होती है। इसलिये अपने इर्द-गिर्द पौधे लगाकर एवं वृक्षारोपण कर ही पर्यावरण को स्वस्थ रखा जा सकता है एवं प्रकृति को होने वाले दुष्प्रभावों से बचाया जा सकता है। साथ ही उनके द्वारा यह भी निर्देश दिये गये कि वृक्ष लगाने के उपरान्त उसकी देखभाल भी आवश्यक है, जिस हेतु प्रत्येक वृक्षारोपण का रिकार्ड भी रखा जाना आवश्यक है, जिससे निश्चित आवृत्ति पर पौधों की ग्रोथ भी जाँची परखी जाये।
इसके साथ ही प्रबन्ध निदेशक महोदय द्वारा अवगत कराया गया कि वर्तमान में ग्लोबल वार्मिंग एवं जलवायु परिवर्तन के कारण सम्पूर्ण उत्तर भारत में भीषण गर्मी का प्रकोप हो रहा है, जिसके केवल वृक्षारोपरण से ही रोका जा सकता है। साथ ही उनके द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि आस-पास हरियाली होने तथा घने जंगल होने के कारण अच्छी वर्षा होती है तथा अच्छी वर्षा होने से जल स्तर बढता है। चूंकि प्रदेश में जल विद्युत परियोजनाओं से ही विद्युत उत्पादन होता है इसलिये जितनी अच्छी वर्षा होगी एवं जल स्तर बढेगा उतना ही अच्छा विद्युत का उत्पादन एवं पारेषण होगा, जिससे प्रदेश की सम्मानित जनता को निर्बाध विद्युत आपूर्ति की जा सकेगी तथा प्रदेश को ऊर्जा प्रदेश बनाने का सपना पूरा किया जा सकता है।
उक्त के साथ ही उनके द्वारा निर्देशित किया गया कि उपकेन्द्र पर स्थापित उपकरणों को अतिभारित होने से रोकने के लिये उचित क्षमता के उपकरण स्थापित किये जाये, प्रदूषण को नियंत्रित रखने के उपाय करें, सोलर उपकरणों का प्रयोग करें तथा देश एवं प्रदेश के हित में ऊर्जा बचायें।
इसके साथ ही प्रबन्ध निदेशक महोदय के निर्देशों के अनुपालन में विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष में प्रदेश में पिटकुल के सभी क्षेत्रीय/मण्डलीय/खण्ड कार्यालयों एवं उपकेन्द्रों में भी कार्मिकों द्वारा वृक्षारोपण किये गये।
इस अवसर पर श्री पी0सी0 ध्यानी, प्रबन्ध निदेशक, श्री राजीव गुप्ता, मुख्य अभियन्ता स्तर-।, श्री मनोज कुमार, महाप्रबन्धक (वित्त), श्री मन्त राम, अधीक्षण अभियन्ता, श्री पंकज चैहान, अधीक्षण अभियन्ता, श्री एस0पी0 आर्य, अधीक्षण अभियन्ता, श्री विवेकानन्द, उपमुख्य कार्मिक अधिकारी, श्री राजेश कुमार गुप्ता, अधिशासी अभियन्ता, मुख्यालय भवन एवं देहरादून में कार्यरत अन्य उच्चाधिकारी तथा 220 के0वी0 उपकेन्द्र, झाझरा पर कार्यरत समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे तथा वृक्षारोपण किया गया।