IND vs AFG : भारत ने लगाया जीत का ‘चौका’, अफगानिस्तान को हराकर सुपर आठ चरण का विजयी आगाज किया

खेल

भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सूर्यकुमार यादव के अर्धशतक की मदद से 20 ओवर में आठ विकेट पर 181 रन बनाए। जवाब में बुमराह और अर्शदीप ने तीन-तीन विकेट झटके जिसके दम पर भारत ने 20 ओवर में अफगानिस्तान को 134 रनों पर ढेर कर दिया।

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और अर्शदीप सिंह की शानदार गेंदबाजी के दम पर भारत ने टी20 विश्व कप में अपनी लगातार चौथी जीत दर्ज की। भारत ने अफगानिस्तान को 47 रनों से हराया और सुपर आठ चरण के ग्रुप एक मैच में जीत दर्ज की। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सूर्यकुमार यादव के अर्धशतक की मदद से 20 ओवर में आठ विकेट पर 181 रन बनाए। जवाब में बुमराह और अर्शदीप ने तीन-तीन विकेट झटके जिसके दम पर भारत ने 20 ओवर में अफगानिस्तान को 134 रनों पर ढेर कर दिया। अफगानिस्तान के लिए अजमातुल्लाह ओमरजई ने 20 गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के की मदद से सर्वाधिक 26 रन बनाए। 

भारतीय गेंदबाजों ने इस मैच में भी दमदार प्रदर्शन किया और स्कोर का बचाव करने में सफलता हासिल की। भारत का सामना अब शनिवार को बांग्लादेश से होगा। भारत सुपर आठ चरण के ग्रुप एक में दो अंक लेकर शीर्ष स्थान पर है। दूसरी ओर, लक्ष्य का पीछा करते हुए अफगानिस्तान की शुरुआत अच्छी नहीं रही और टीम नियमित अंतराल पर विकेट गंवाती रही। भारत दिसंबर 2023 से अब तक टी20 में लगातार आठ मुकाबले जीत चुका है। इससे पहले भारत ने जनवरी 2020 से दिसंबर 2020 के बीच कुल नौ और नवंबर 2021 से फरवरी 2022 के बीच लगातार 12 मैच जीते थे। 

सूर्यकुमार ने की कोहली की बराबरी
सूर्यकुमार ने अफगानिस्तान के खिलाफ 28 गेंदों पर पांच चौकों और तीन छक्कों की मदद से 53 रन बनाए। सूर्यकुमार को उनकी इस पारी के दम पर प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया। यह 15वीं बार है जब टी20 में सूर्यकुमार को इस पुरस्कार से नवाजा गया है। सूर्यकुमार ने इसके साथ ही टी20 में सबसे ज्यादा प्लेयर ऑफ द मैच अवॉर्ड जीतने के मामले में विराट कोहली की बराबरी कर ली है। कोहली ने भी अपने टी20 करियर में इतनी ही बार प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार जीता है। 

अफगानिस्तान की खराब बल्लेबाजी
अफगानिस्तान के गेंदबाजों ने इस मैच में अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन बल्लेबाज इस मैच में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके। पहले बुमराह ने अफगानिस्तान को शुरुआती झटके दिए, जबकि अंत में अर्शदीप ने उसकी रही-सही उम्मीद भी धूमिल कर दी। अफगानिस्तान ने दूसरे ही ओवर में रहमानुल्लाह गुरबाज का विकेट गंवा जो 11 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद टीम ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए। अफगानिस्तान का स्कोर एक समय 23 रन पर तीन विकेट था। हालांकि, गुलबदिन नईब ने अजमातुल्लाह के साथ मिलकर पारी को संभालने की कोशिश की, लेकिन कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव ने नईब को आउट कर इस साझेदारी का अंत किया। नईब 17 रन बनाकर आउट हुए। फिर जडेजा ने ओमरजई को आउट कर अफगानिस्तान को तगड़ा झटका दिया। कुलदीप को पहली बार इस टी20 विश्व कप में प्लेइंग-11 में शामिल किया गया था और उन्होंने इस मौके का पूरा फायदा उठाया। 

भारतीय ओपनिंग जोड़ी फिर विफल
भारत को इस विश्व कप में अपनी ओपनिंग जोड़ी से अच्छे प्रदर्शन की आस है, लेकिन विराट कोहली और कप्तान रोहित शर्मा की जोड़ी अब तक टीम को मजबूत शुरुआत नहीं दिला पाई है। फजलहक फारूकी ने रोहित को आउट कर भारत को पहला झटका दिया। रोहित 13 गेंद खेलकर आठ रन बनाकर आउट हुए। यह आठवां मौका है जब रोहित किसी बाएं हाथ के तेंज गेंदबाज के खिलाफ टी20 क्रिकेट में इस साल आउट हुए हैं। रिकॉर्ड्स पर नजर डालें तो 19 पारियों में हिटमैन ने 98 गेंदों का सामना किया और 128 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 16 का रहा है। मौजूदा टूर्नामेंट में रोहित ने एक अर्धशतक की बदौलत 99 रन बनाए हैं।

कोहली भी नहीं खेल सके बड़ी पारी
इस विश्व कप में लय हासिल करने के लिए जूझ रहे कोहली का बल्ला इस मुकाबले में भी कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाया। कोहली 24 गेंदों पर सिर्फ 24 रन ही बना सके। उन्हें राशिद खान ने अपना शिकार बनाया। कोहली ने हालांकि अपनी पिछली पारियों के मुकाबले अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन वह ज्यादा प्रभावित नहीं कर सके। कोहली की खराब फॉर्म ने एक बार फिर फैंस को निराश किया। उनके बल्ले से सिवाए एक छक्के के कोई बाउंड्री नहीं आई। अफगानिस्तान के कप्तान और अनुभवी स्पिनर राशिद खान ने उन्हें नौवें ओवर की तीसरी गेंद पर अपना शिकार बनाया। यह तीसरा मौका है जब टी20 क्रिकेट में कोहली दिग्गज बल्लेबाज का निशाना बने। पिछली 10 पारियों में कोहली ने 25 वर्षीय गेंदबाज के खिलाफ 85 गेंदों में सिर्फ 108 रन बनाए हैं। इसमें तीन बार वह आउट हुए हैं। इससे पहले पिछले तीन मैचों में कोहली सिर्फ पांच रन बना पाए थे। 

सूर्यकुमार-हार्दिक की शानदार साझेदारी
अफगानिस्तान के खिलाफ भारत की पारी लड़खड़ा गई और एक समय टीम का स्कोर चार विकेट पर 90 रन था, लेकिन सूर्यकुमार यादव और उपकप्तान हार्दिक पांड्या ने शानदार साझेदारी की और टीम को मुश्किल से निकाला। इन दोनों बल्लेबाजों ने पांचवें विकेट के लिए 60 रनों की साझेदारी की। सूर्यकुमार ने अजमतुल्लाह ओमरजई पर दो चौकों के साथ 13वें ओवर में भारत के रनों का शतक पूरा किया। हार्दिक पांड्या ने भी नवीन और राशिद पर चौके जड़कर अपने तेवर दिखाए। उन्होंने 16वें ओवर में नूर की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का भी मारा। सूर्यकुमार ने अगले ओवर में फारूकी की लगातार गेंदों पर छक्के और चौके के साथ सिर्फ 27 गेंद में अर्धशतक पूरा किया, लेकिन अगली गेंद को हवा में लहराकर नबी को कैच दे बैठे। भारत के 150 रन भी इसी ओवर में पूरे हुए। हार्दिक ने अगले ओवर में नवीन पर छक्का जड़ा लेकिन फिर बाउंड्री पर ओमरजई को कैच दे बैठे। रवींद्र जडेजा ने भी सात रन बनाने के बाद फारूकी गेंद की गेंद पर गुलबदिन नैब को कैच थमाया। अक्षर पटेल ने पारी की अंतिम गेंद पर रन आउट होने से पहले नवीन के ओवर में दो चौकों से 14 रन जुटाए जिसकी मदद से भारत 180 रनों का आंकड़ा पार करने में सफल रहा।