Breaking News
Home / Uttarakhand News / मौसम की मार: बारिश से दरके पहाड़-घरों में घुसा मलबा, भूस्खलन के बाद सड़कें बंद

मौसम की मार: बारिश से दरके पहाड़-घरों में घुसा मलबा, भूस्खलन के बाद सड़कें बंद

उत्तराखंड में भारी बारिश मुसीबत बनती जा रही है। पुल टूटने से लेकर हाईवे बाधित होने से जगह-जगह यात्री फंस गए हैं। बारिश के बाद पहाड़ दरके तो कहीं पर भूस्खलन से सड़कें बंद हो गईं हैँ।

उत्तराखंड में भूस्खलन, घरों में मलबा घुसने और नदी, नालों के उफान पर आने का सिलसिला भी जारी रहा। देहरादून में कार के बह जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। भूस्खलन के कारण यमुनोत्री हाइवे समेत 191 सड़कें बंद हो गई। बदरीनाथ केवल छोटे वाहनों के लिए खुल पाया। चमोली जिले के चोटिंग गांव में मलबा घुस जाने से 11 परिवारों को स्कूल में शिफ्ट किया गया है। मौसम विभाग ने 12 जुलाई तक बारिश का सिलसिला जारी रहने की अनुमान जताया है।

यमुनोत्री हाईवे समेत 191 सड़कें बंद
रविवार को बारिश से भूस्खलन के कारण यमुनोत्री हाइवे समेत 191 सड़कों पर यातायात बंद हो गया। हाइवे बंद होने से कई यमुनोत्री यात्री राड़ी टॉप के पास फंस गए हैं। उधर, बदरीनाथ हाइवे देर शाम छोटे वाहनों के लिए खोल दिया गया है।

फूलों की घाटी की यात्रा दूसरे दिन भी बंद
द्वारीपैरा और ग्लेशियर प्वाइंट पर जारी भूस्खलन के कारण फूलों की घाटी की यात्रा दूसरे दिन भी बंद रही। फॉरेस्ट आफिसर अनूप कुमार ने बताया कि, डेढ़ सौ पर्यटकों को घांघरिया में रोका गया है। उधर, हेमकुंड साहिब पैदल मार्ग अस्थाई तौर पर खोल दिया गया है। गुरुद्वारा गोविन्दघाट के प्रबंधक सेवा सिंह ने बताया कि रविवार को 1100 सिख यात्री हेमकुंड के लिए रवाना हुए हैं।

केदारनाथ हाइवे पर दो कारें दबीं
केदारनाथ हाईवे पर तरसाली गांव के मार्ग पर पहाड़ से गिरे मलबे और पेड़ों की चपेट में आने से दो कारें क्षतिग्रस्त हो गईं। गनीमत रही कि, घटना के वक्त कारों में कोई सवार नहीं था।

रपटे में बही कार, एक की मौत
देहरादून के शिमला बाईपास मार्ग पर एक कार के रपटे की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए। कार सवार पांवटा साहिब से देहरादून से लौट रहे थे।

हरिद्वार में गंगा चेतावनी निशान के करीब
पहाड़ पर जारी बारिश के कारण हरिद्वार में गंगा का जलस्तर रविवार सुबह चेतावनी निशान करीब पहुंच गया। हालांकि, दोपहर बाद गंगा का जलस्तर चेतावनी के निशान से नीचे आ गया।

Check Also

विद्यालयों में एकल शिक्षक व्यवस्था होगी समाप्त, प्रत्येक 15 दिन में होगी आंतरिक परीक्षा

प्रदेश सरकार ने प्रारंभिक शिक्षा की दशा सुधारने के लिए बड़ा निर्णय लिया है। राजकीय …