Breaking News
Home / Uttarakhand News / पीपीपी मोड के खिलाफ अनशन पर बैठे 90 वर्षीय बुजुर्ग की सरकार नहीं ले रही सुध 

पीपीपी मोड के खिलाफ अनशन पर बैठे 90 वर्षीय बुजुर्ग की सरकार नहीं ले रही सुध 

देहरादून । डोईवाला समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को निजीकरण से मुक्त कराने के लिए चल रहे आंदोलन में आज 90 वर्षीय बुजुर्ग आमरण अनशन पर बैठ गए। इससे पहले उक्रांद कार्यकर्ताओं ने जनरल विपिन रावत की फोटो पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की और देश के लिए उनके योगदान को याद किया।
डोईवाला स्वास्थ्य सामुदायिक केंद्र को निजीकरण से मुक्त कराने के लिए उत्तराखंड क्रांति दल पिछले 16 दिनों से धरना प्रदर्शन कर रहा है।
उत्तराखंड क्रांति दल के नेता केंद्र पाल सिंह तोपवाल का आमरण अनशन आज सातवें दिन भी जारी रहा। साथ ही 90 वर्षीय बुजुर्ग गिरधारी लाल नैथानी सरकार की हठधर्मिता को देखते हुए आज से आमरण अनशन पर बैठ गए। उत्तराखंड क्रांति दल के नेता शिवप्रसाद सेमवाल ने कहा कि, आज बीजेपी सरकार की हठधर्मिता को देखते हुए उत्तराखंड आदोलनकारी 90 वर्षीय बुजुर्ग गिरधारी लाल नैथानी को मजबूरन आमरण अनशन पर बैठना पड़ा, यदि इन्हें कुछ भी हुआ तो इसकी पूरी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की होगी। गिरधारी लाल नैथानी ने बोला कि मैं राज्य आंदोलनकारी हूं और मैंने राज्य को उत्तर प्रदेश से अलग करने के लिए लड़ाई लड़ी है और यह लड़ाई भी मैं तब तक लडूंगा जब तक कि सरकार इस अनुबंध को वापस नहीं ले लेती। उन्होंने आगे कहा कि रोगी जिस तरीके से डोईवाला स्वास्थ्य केंद्र में परेशान है,इस परेशानी को देखते हुए और शासन की  कुनीतियों के खिलाफ मजबूरन आज मैं आमरण अनशन पर बैठा हूं और मैं तब तक नहीं उठूंगा जब तक कि सरकार इसका अनुबंध वापस नहीं ले लेती।
यूकेडी नेता केंद्रपाल सिंह तोपवाल ने कहा कि आज मुझे हमारा अनशन पर बैठे सातवां दिन है लेकिन शासन प्रशासन इस अस्पताल की कोई भी सुध लेने के लिए तैयार नहीं है। अगर आंदोलन उग्र हुआ तो शासन इसका जिम्मेदार होगा। बीजेपी कार्यकर्ता रामेश्वर पांडे ने कहा कि मैं भले ही बीजेपी का कार्यकर्ता हूं लेकिन बीजेपी की गलत नीतियों के खिलाफ मैं हमेशा लड़ता रहा हूं। इसीलिए मैं इस डोईवाला स्वास्थ्य समुदायिक केंद्र को पीपीपी मोड से वापस कराने के लिए उत्तराखंड क्रांति दल के साथ आंदोलन पर बैठा हूं। रामेश्वर पांडे ने सरकार से मांग की है कि जल्द से जल्द डोईवाला स्वास्थ्य केंद्र को पीपीपी मोड से वापस ले। इस अवसर पर उत्तराखंड क्रांति दल के जिला अध्यक्ष संजय डोभाल, केंद्रीय संगठन मंत्री संजय बहुगुणा, राकेश तोपवाल, श्याम सुंदर, दिनेश सेमवाल, जगदंबा प्रसाद भट्ट, प्रशांत भट्ट, तारा यादव,प्रमोद डोभाल,रमेश तोपवाल,हर्ष रावत निर्मला भट, बबीता रावत,आशीष ब्लोढ़ी, सूरज कोठारी,रणधीर चौहान रोहतास, करण, किशन तोपवाल,आदिल हुसैन, प्रमोद सिंह ,मनोज कुमार,राहुल तोपवाल, राहुल रावत, रमेश उनियाल, श्याम सुदर आदि मौजूद रहे।

Check Also

विद्यालयों में एकल शिक्षक व्यवस्था होगी समाप्त, प्रत्येक 15 दिन में होगी आंतरिक परीक्षा

प्रदेश सरकार ने प्रारंभिक शिक्षा की दशा सुधारने के लिए बड़ा निर्णय लिया है। राजकीय …