Breaking News
Home / Sports / भारतीय तेज गेंदबाजों के लगातार चोटिल होने पर सबा करीम का बड़ा बयान, एनसीए को ठहराया जिम्मेदार

भारतीय तेज गेंदबाजों के लगातार चोटिल होने पर सबा करीम का बड़ा बयान, एनसीए को ठहराया जिम्मेदार

प्रसिद्ध कृष्णा और यश दयाल भी चोट से जूझ रहे तेज गेंदबाजों की सूची में शामिल हो गए हैं। दीपक चाहर और हर्षल पटेल ने भी चोट के कारण लंबे समय तक बाहर रहने के बाद हाल ही में वापसी की है।

भारत के पूर्व क्रिकेटर सबा करीम ने तेज गेंदबाजों की फिटनेस की निगरानी करने में नेशनल क्रिकेट अकादमी (एनसीए) की विफलता पर सवाल उठाया है। उनका तर्क ऐसे समय में आया है जब भारत के प्रमुख तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह समेत कई तेज गेंदबाज चोट से उबर रहे हैं। बुमराह पीठ में चोट के कारण पिछले काफी समय से टीम से बाहर हैं। उन्होंने चोट की वजह से दो बड़े टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया। इनमें एशिया कप और टी20 वर्ल्ड कप शामिल है।

उनके अलावा प्रसिद्ध कृष्णा और यश दयाल भी चोट से जूझ रहे तेज गेंदबाजों की सूची में शामिल हो गए हैं। दीपक चाहर और हर्षल पटेल ने भी चोट के कारण लंबे समय तक बाहर रहने के बाद हाल ही में वापसी की है। शार्दुल ठाकुर भी रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत की प्लेइंग इलेवन से अनुपस्थित थे, जिसे बारिश के कारण रद्द कर दिया गया था। मैच से पहले शार्दुल को वार्मअप करते हुए देखा गया था, लेकिन तब वह एक सहयोगी स्टाफ की कड़ी निगरानी में थे।

एक स्पोर्ट्स वेबसाइट से टीम इंडिया की तेज गेंदबाजी पर अपने विचार साझा करते हुए सबा करीम ने कहा- जहां तक मुझे पता है यह नेशनल क्रिकेट एकेडमी का काम है, जो टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं के साथ बैठता है और 10-12 तेज गेंदबाजों के पूल को शॉर्टलिस्ट करता है। एनसीए को तेज गेंदबाजों का मार्गदर्शन करने की जरूरत है। साथ ही उनकी फिटनेस पर नजर रखने की जरूरत है। गेंदबाजों के वर्कलोड मैनेजमेंट पर भी ध्यान देने की जरूरत है, ताकि जब भी टीम को जरूरत हो खिलाड़ी उपलब्ध रहें।

सबा करीम ने कहा- ऐसा क्यों नहीं हो रहा है, यह कहना मुश्किल है, लेकिन हमारे पास निश्चित रूप से युवा तेज गेंदबाज हैं, जो अच्छी गेंदबाजी कर सकते हैं। हालांकि करीम ने स्वीकार किया कि हाल की चोटें चिंता का कारण रही हैं, लेकिन यह भी बताया कि देश में तेज गेंदबाजी प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है और कुछ नाम भी बताए। करीम ने कहा- मैं आपको चार-पांच नाम दे सकता हूं। 

सबा करीम ने कहा- बांग्लादेश के लिए चुने गए कुलदीप सेन 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हैं। आवेश खान और शिवम मावी भी हैं, जो यूपी के लिए खेलते हैं। मैंने उन्हें घरेलू क्रिकेट में 140 पर क्लिक करते देखा है। कार्तिक त्यागी ने ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान नेट गेंदबाज के रूप में प्रभावित किया था। खलील अहमद ने भी आईपीएल में काफी अच्छी गेंदबाजी की है।

Check Also

U-19 T20 World Cup: चैंपियन बनने के बाद झूमीं बेटियां, फैन बने नीरज चोपड़ा, तस्वीरों में देखें फाइनल का रोमांच

महिला अंडर-19 टी20 विश्व कप के पहले संस्करण में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन करते …