Breaking News
Home / Uttarakhand News / विधानसभा सत्र 29 मार्च से, पहले दिन होगा राज्यपाल का अभिभाषण, सरकार पेश करेगी लेखानुदान

विधानसभा सत्र 29 मार्च से, पहले दिन होगा राज्यपाल का अभिभाषण, सरकार पेश करेगी लेखानुदान

देहरादून । उत्तराखंड की पांचवीं विधानसभा के 29 मार्च से प्रारम्भ हो रहे प्रथम सत्र के कार्य संचालन एवं विधायी कार्यों को लेकर नवनिर्वाचित उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण की अध्यक्षता में कार्य मंत्रणा की बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान कार्य मंत्रणा समिति के सदस्यों द्वारा सत्र के दौरान चलने वाली संसदीय कार्यवाही पर चर्चा की गई।
        विधानसभा भवन देहरादून में आयोजित कार्यमंत्रणा समिति की बैठक के दौरान संसदीय कार्य मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल, विधायक खजान दास, बहुजन समाजवादी पार्टी के विधान मंडल दल के नेता हाजी शहजाद मौजूद रहे। बैठक के दौरान 29 मार्च को चलने वाले सदन की कार्यसूची पर चर्चा की गई जिसमें तय किया गया कि सत्र के पहले दिन राज्यपाल के अभिभाषण के साथ-साथ पटल पर इस वित्तीय वर्ष का लेखानुदान प्रस्तुत किया जाएगा। बैठक में तय किया गया कि आगे के उपवेशन के लिए कार्य मंत्रणा समिति की बैठक आहूत की जाएगी।
     बैठक के उपरांत पत्रकारों से बातचीत में विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष के रूप में पहली बार सदन को संचालित करना उनके लिए गौरवपूर्ण क्षण है साथ ही उनके लिए चुनौती भी है। उन्होंने सदन के सभी सदस्यों से शांतिपूर्वक एवं सुचारु रुप से संचालित करने के लिए सहयोग की अपेक्षा की है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश के विकास एवं जनहित में उठाये गए मुद्दों पर सदन में सकारात्मक चर्चा होगी। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि वह सत्ता पक्ष एवं विपक्ष के सभी सदस्यों को साथ लेकर समान अवसर प्रदान करेंगी। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि जनता की आशाओं और अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए उनका प्रयास लोकतांत्रिक संस्था को सशक्त बनाना होगा। नीतियों और कानून के निर्माण तथा जनहित से जुड़े विषयों के लिए सदन को व्यापक चर्चा-संवाद का केंद्र बनाकर ही हम कार्यपालिका पर नियंत्रण रखते हुए जनता का कल्याण कर सकते हैं। इस अवसर पर विधानसभा के सचिव मुकेश सिंघल, विधायी के प्रमुख सचिव हीरा सिंह बोनाल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Check Also

विद्यालयों में एकल शिक्षक व्यवस्था होगी समाप्त, प्रत्येक 15 दिन में होगी आंतरिक परीक्षा

प्रदेश सरकार ने प्रारंभिक शिक्षा की दशा सुधारने के लिए बड़ा निर्णय लिया है। राजकीय …