Breaking News
Home / International News / समरकंद में बाढ़, युद्ध की चुनौती भूले व्लादिमीर पुतिन और शहबाज शरीफ, SCO सम्मेलन में जमकर उड़ाई दावत

समरकंद में बाढ़, युद्ध की चुनौती भूले व्लादिमीर पुतिन और शहबाज शरीफ, SCO सम्मेलन में जमकर उड़ाई दावत

SCO शिखर सम्मेलन 2022 में पीएम शरीफ राष्ट्रपति शी जिनपिंग का अलग ही रूप नजर आया। कार्यक्रम के दौरान दोनों नेता अपने-अपने देशों की चुनौतियों को कुछ देर भुलाते हुए दावत उड़ाते नजर आए।

उज्बेकिस्तान के समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन की बैठक जारी है। बैठक में शामिल होने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन समेत कई नेता भी पहुंचे हैं। बैठक शुरू होने से पहले सभी शीर्ष नेता ग्रुप फोटो में शामिल हुए। खास बात है कि कार्यक्रम से जुड़ी एक तस्वीर और सामने आई है, जहां बड़े नेता मुल्क की चुनौतियों के बीच दावत उड़ाते नजर आए।

SCO शिखर सम्मेलन 2022 में पीएम शरीफ राष्ट्रपति शी जिनपिंग का अलग ही रूप नजर आया। कार्यक्रम के दौरान दोनों नेता अपने-अपने देशों की चुनौतियों को कुछ देर भुलाते हुए दावत उड़ाते नजर आए। एक ओर जहां पाकिस्तान की आवाम भीषण बाढ़ का सामना कर रही है। वहीं, रूस का 24 फरवरी से ही पड़ोसी देश यूक्रेन के साथ युद्ध जारी है।

दोनों देशों में क्या हैं हालात
22 करोड़ की आबादी वाले पाकिस्तान में करीब 3.3 करोड़ लोग बारिश से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि घरों, वाहनों, आनाज और लाइव स्टॉक यानी पशुधन को मिलाकर करीब 30 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है। खबर है अब तक मुल्क में 1 हजार 486 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें लगभग 530 बच्चे शामिल हैं।

इधर, यूक्रेन के बलों ने उन क्षेत्र में भारी बढ़त हासिल कर ली है, जो रूस के नियंत्रण में चले गए थे। यूक्रेन के बलों की तरफ से तेज हुई कार्रवाई ने सैकड़ों गांवों को दोबारा हासिल करने में सफलता हासिल की है। ऐस में पुतिन पर भी दबाव बढ़ गया है। कई इलाकों पर नियंत्रण कराने के बाद रूसी सैनिक पीछे हट रहे हैं।

क्या है SCO
वार्ता के अनुसार, एससीओ की स्थापना जून-2001 में हुई थी और भारत 2017 में पूर्ण सदस्य बना । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2017 में भारत के पूर्ण सदस्य बनने के बाद से हर साल एससीओ शिखर सम्मेलन में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं। वर्ष 2020 और 2021 में पिछले दो शिखर सम्मेलनों के दौरान मोदी ने वर्चुअल भागीदारी की थी। एससीओ एक क्षेत्रीय बहुपक्षीय संगठन है जिसमें आठ सदस्य देश भारत, चीन, रूस, पाकस्तिान, कजाकस्तिान, कर्गिस्तिान, ताजिकस्तिान और उजबेकस्तिान हैं। उज्बेकस्तिान SCO का वर्तमान अध्यक्ष है।

Check Also

कंबोडिया में बोले राजनाथ- हम ऐसे समय में मिल रहे जब दुनिया विघटनकारी राजनीति से बढ़ते संघर्ष को देख रही

भारत-आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में भाग लेने के लिए  कंबोडिया के सिएम रीप पहुंचे …