Breaking News
Home / uttarakhand / उत्तराखंड के मदरसे में अब से होगा ड्रेस कोड, जानिए नए नियम

उत्तराखंड के मदरसे में अब से होगा ड्रेस कोड, जानिए नए नियम

त्तराखंड में मदरसों (Madarsa) की तस्वीरों में जल्द बदलाव दिखने वाला है, क्योंकि उत्तराखंड में वक्फ बोर्ड के तहत आने वाले मदरसों में अगले शिक्षा सत्र से एनसीईआरटी पाठ्यक्रम और ड्रेस कोड लागू किया जाएगा। बता दें कि उत्तराखंड वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि बोर्ड के दायरे में आने वाले सभी  मदरसों में ड्रेस कोड और एनसीईआरईटी पाठ्यक्रम लागू होगा।

जानकारी के मुताबिक पहले चरण में 7 मदरसे में बदलाव होगा और फिर धीरे-धीरे अन्य धर्मों के बच्चे भी मार्डन स्कूल की तरह शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे। इन 7 मदरसों में अगले शैक्षिक सत्र से ड्रेस कोड लागू किया जाएगा। ड्रेस कोड लागू किये (Madarsa Dress Code) जाने के मामले पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की सहमति जताई है।

उत्तराखंड वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि बोर्ड के दायरे में आने (Uttarakhand Madarsa Dress Code) वाले सभी 103 मदरसों में ड्रेस कोड और एनसीईआरटी पाठ्यक्रम लागू करने जा रहे हैं। इसमें पहले चरण में देहरादून, ऊधमसिंह नगर और हरिद्वार के दो-दो मदरसों एवं नैनीताल जिले के एक मदरसे को मॉडर्न स्कूल की तर्ज पर चलाने के लिए चुना गया है।

इन 7 मदरसों में सुबह 6:30 से 7:30 बजे तक फजर की नमाज के बाद कुरान की शिक्षा दी जाएगी। इसके बाद मार्डन स्कूलो की तरह पढ़ाई चलेंगी, जबकि दो बजे के बाद फिर मदरसे के रूप में चलने लगेंगे।

वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि मदरसों को मदरसा बोर्ड (Uttarakhand Madarsa) नहीं बल्कि उत्तराखंड बोर्ड से पंजीकृत किया जाएगा। मदरसों के सर्वे कराये जाने के मामले की चर्चाओं के बाद ही मदरसों के मॉर्डनाइजेशन को लेकर राज्य सरकार की पहल से ये शुरू किया गया था।

Check Also

अब नए प्रारूप के साथ ही करना होगा बेटियों को आवेदन, बिजली-पानी का बिल जरूरी नहीं

नंदा गौरा योजना के तहत बेटियों को नए प्रारूप के साथ ही आवेदन करना होगा।  डीएम को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *